बेटी के लिए योजना,हर महीने 250/500/1000 भर कर आखिर में मिलेंगे 30 लाख : Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है ? : Sukanya Samriddhi Yojana

केंद्र सरकार ने बेटियों के भविष्य को उज्जवल बनाने के उद्देश्य से Sukanya Samriddhi Yojana को बनाया है। इस योजना से माता-पिता द्वारा कन्या के नाम पर निवेश खाता खोला जाता एवं उसमें निश्चित राशि का इन्वेस्टमेंट किया जाता है और बाद में वे राशि का उपयोग कन्या के विवाह एवं शिक्षा के लिए किया जा सकता है। सरकार द्वारा इस राशि पर ज्यादा से ज्यादा ब्याज दिया जाता है। इस योजना में निवेश करने पर इनकम टैक्स की छूट भी दी जाती है। आप इस पोस्ट को पढ़कर इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया की पूरी जानकारी ले सकेंगे।

Sukanya Samriddhi Yojana योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए आपकी बेटी की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अकाउंट खुलवाना जरुरी होगा। इस अकाउंट में इन्वेस्टमेंट की न्यूनतम सीमा ₹250 रुपए और अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपए हैं। यह इन्वेस्टमेंट बेटी की उच्च शिक्षा या तो शादी के लिए किया जा सकता है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा निवेश पर 8% की दर से ब्याज प्रदान किया जाता है ,यह रेट समय के मुताबित बदलते रहते है। इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत निवेश करने पर टैक्स में बेनिफिट मिलता है।

यह अकाउंट आप किसी भी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की बैंक में खुलवा सकते है। Sukanya Samriddhi खाते का संचालन बेटी की आयु 21 वर्ष की होने या फिर 18 वर्ष की आयु के बाद शादी होने तक कर सकते है। बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 18 वर्ष की आयु के बाद 50% तक की रकम की निकली जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि योजना डिजिटल अकाउंट के माध्यम से ?:Sukanya Samriddhi Yojana:

Sukanya Samriddhi Yojana योजना के अंतर्गत पैसों की जमा करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाना पड़ता था पर अब पोस्ट ऑफिस द्वारा डिजिटल अकाउंट ओपनकर दिया गया है। इस डिजिटल अकाउंट के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में आप तुरंत पैसे जमा कर सकते है। इस डिजिटल अकाउंट की वजह से अब खाताधारकों को खाते में पैसे जमा करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाने की जरुरत नहीं है,वह अपने मोबाइल के माध्यम से पैसे ट्रांसफर कर अकाउंट में जमा कर सकते हैं।

डिजिटल अकाउंट खोलने के लिए भी आपको पोस्ट ऑफिस जाने की जरुरत नहीं है और इस अकाउंट को आधार कार्ड और पैन कार्ड से घर बैठे खता खोला जा सकता है और पोस्ट ऑफिस की किसी भी स्कीम में पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं।

खाता नहीं होगा डिफॉल्ट! :Sukanya Samriddhi Yojana

Sukanya Samriddhi Yojana को बेटी का भविष्य सुरक्षित करने के उद्देश्य से आरंभ किया गया है इसी वजह से इस योजना के अंतर्गत माता-पिता द्वारा एक नियमित राशि जमा की जाती है। यह अकाउंट बेटी की 10 वर्ष की आयु पूरी होने से पहले खोला जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाते को ओपन करने के लिए पहले न्यूनतम 250 रुपए प्रति वर्ष का निवेश करना बहोत जरूरी होती थी और यदि यह न्यूनतम राशि नहीं जमा की जाती थी तो खाता डिफॉल्ट हो जाता था परन्तु अब इस योजना के नए नियमों के अंतर्गत अगर न्यूनतम राशि जमा नहीं कर पाए तो अकाउंट डिफॉल्ट नहीं माना जाता और मैच्योरिटी तक पहले की तरह ही खाते में जमा रकम पर लागू दर के अनुसार बियाज मिलता रहता है |

कितनी बेटियों को लाभ मिल सकता है?Sukanya Samriddhi Yojana

Sukanya Samriddhi Yojana 2022 के अंतर्गत केवल एक परिवार की दो बेटियों को ही लाभ मिल सकता है। यदि एक परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तो इस योजना का लाभ केवल उस परिवार की दो बेटियां ही ले सकती हैं।इस योजना के अंतर्गत वह सभी लोग अपनी बेटी का खाता खोल सकते हैं जो अपनी बेटी की शादी और पढ़ाई के लिए पैसा जमा करना चाहते हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana: Interest Rate

इस योजना के अंतर्गत इंटरेस्ट रेट पहले 8.4% निर्धारित किया गया था जिसे अब 7.6% कर दिया गया है।यह रेट समय के मुताबित बढता और कम होता रहता है, इस योजना की अवधि पूरी होने के पश्चात या फिर कन्या यदि NRI या नोन सिटिजन बन जाती है तो इस स्थिति में ब्याज प्रदान नहीं होता। सरकार द्वारा ब्याज दर निर्धारित की जाती है।

सुकन्या समृद्धि योजना में लोन ?: Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अन्य PPF योजना के जैसे लोन नहीं प्राप्त किया जा सकता है। परंतु यदि बालिका की आयु 18 वर्ष की हो गई है तो इस योजना के खाते से 50% राशी निकाली जा सकती है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत की गई निकासी बालिकाओं की बेहतरी के लिए की जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि योजना के 9 मुख्य लाभ : Sukanya Samriddhi Yojana

  • इस योजना को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत लांच किया गया था। इस योजना के माध्यम से 7.6% इंटरेस्ट रेट प्रदान किया जाता है एवं आयकर अधिनियम 1961 के सेक्शन 80C के अंतर्गत आयकर लाभ भी प्रदान किए जाते हैं। इस योजना के अंतर्गत एक परिवार की दो बेटियों का खाता खुलवाया जा सकता है।
  • कन्या के माता-पिता द्वारा इस योजना के अंतर्गत ₹250 प्रतिवर्ष जमा किए जा सकते हैं एवं अधिकतम ₹150000 जमा किए जा सकते हैं।
  • इस खाते को कन्या के नेचुरल या लीगल गार्डियन के नाम पर खोला जा सकता है। जब तक कन्या की आयु 10 वर्ष नहीं हो जाती है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अकाउंट ओपनिंग फॉर्म, बर्थ सर्टिफिकेट, माता-पिता का फोटोग्राफ, केवाईसी डॉक्यूमेंट आदि जमा किए जाते हैं।
  • यदि खाताधारक द्वारा समय से राशि का भुगतान नहीं किया जाता है तो खाताधारक को ₹50 की पेनल्टी का भुगतान करना होता है।
  • कन्या की आयु 18 वर्ष होने के पश्चात इस खाते से पैसे निकाले जा सकते हैं। 18 वर्ष की आयु के पश्चात कन्या की शिक्षा के लिए 50% राशि की निकासी की जा सकती है।
  • यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है या फिर खाताधारक का स्टेटस एनआरआई हो जाता है तो इस स्थिति में खाते को बंद किया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत ऋण की कोई सुविधा नहीं प्रदान की जाती है।
  • इस योजना खाते को 21 वर्ष तक संचालित किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर ?: Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में या फिर एक बैंक से दूसरे बैंक में अकाउंट को ट्रांसफर किया जा सकता है।

आपको अपनी अपडेटेड पासबुक और केवाईसी दस्तावेजों को लेकर पोस्ट ऑफिस में या फिर बैंक में जाना होगा और ट्रांसफर के दौरान बालिकाओं को उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है।इसके पश्चात आपको अपने सुकन्या समृद्धि अकाउंट की पासबुक और KYC डॉक्यूमेंट को अपने बैंक या पर पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा और अपने बैंक एवं पोस्ट ऑफिस को इस बात की सूचना देनी होगी कि आपको अपना खाता ट्रांसफर करना है।इसके बाद मैनेजर आपका खाता पुरानी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में बंद कर देगा और ट्रांसफर रिक्वेस्ट आपको देगा और इसके अलावा आपसे सभी जरूरी दस्तावेजों की मांग की जाएगी।फिर आपको यह ट्रांसफर रिक्वेस्ट लेकर नए पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक अकाउंट में जाना होगा और वहां पर यह सभी दस्तावेज सबमिट करने होंगे।पहचान और पते के प्रमाण के लिए आपको KYC दस्तावेजों को भी जमा करना होगा।अब आपको एक नई पासबुक दी जाएगी।इसके बाद आप अपने इस नया अकाउंट से सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट का संचालन कर सकते हैं।

Sukanya Samriddhi Scheme: New Update

देश में कोरोना वायरस की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था की आर्थिक गतिविधियों पर काफी बुरा प्रभाव पड़ा है RBI की तरफ रेपो रेट कम किये जाने के बाद सरकार ने Sukanya Samriddhi Scheme सहित छोटी बचत योजनाओं के लिए पिछले महीने ब्याज दरों में कटौती की घोषणा कीगयी है और इस योजना के अंतर्गत पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट (RD) और टाइम डिपॉजिट पर 1-3 साल की ब्याज दरों में 1.4 फीसदी की कमी की गई, PPF और Sukanya Samriddhi Scheme में 0.8 फीसदी की कटौती की गई है। इससे आपकी बेटी के लिए मैच्योरिटी राशि में कमी आने वाली है। इस Sukanya Samriddhi Scheme के अंतर्गत ब्याज दर कम होने के बाद लाभार्थी के खातों में दी जाने वाली ब्याज की वार्षिक दर पहले के 8.4 प्रतिशत की तुलना में 7.6 प्रतिशत हो गई है।

प्रतिवर्ष कितने पैसे होगे? Sukanya Samriddhi Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत पहले प्रति महीने ₹1000 देने का निर्णय किया था। जो कि अब काम करके ₹250 प्रतिमाह कर दिया है और इस योजना के अंतर्गत ₹250 से लेकर ₹150000 तक निवेश कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत बैंक अकाउंट खुलवाने के 14 साल तक निवेश करना आवशक रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.